इंटरनेट क्या है? और यह कैसे काम करता है? | What is internet and how does it work?

वर्तमान में Internet के बिना हम अपने जीवन की कल्पना भी नहीं सकते। इंटरनेट के उपयोग से हम देश के एक कोने से दूसरे कोने में एक-दुसरे के साथ संपर्क कर सकते हैं, अपना व्यवसाय चला सकते हैं, शिक्षा हासिल कर सकते हैं तथा नई-नई जानकारियां प्राप्त और प्रदान कर सकते हैं।

इंटरनेट के महत्व से कोई अछूता नहीं है यही वजह है कि आज बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक इसका इस्तेमाल कर रहे हैं। Internet को Hindi में ‘अंतर्जाल’ के नाम से जाना जाता है। कई लोग पूछते हैं कि Internet का पूरा नाम क्या है?

वैसे तो Internet का आधिकारिक तौर पर कोई Full Form नहीं है, लेकिन अक्सर इसका Full Form Interconnected Network बताया जाता है।

Also Read:

आज इस Article में हम Internet से जुड़ी इसी तरह की महत्वपूर्ण जानकारियों के बारे में पढ़ेंगे, तो चलिए शुरू करते हैं बिना किसी देरी के :-

इंटरनेट क्या है? | What Is Internet in Hindi?

Internet एक Global Network है जो कि विश्व भर में मौजूद प्रत्येक Computer को आपस में जोड़ता है। यह सभी Computers आपस में Router और Server के जरिए जुड़े होते हैं, जिस वजह से इन्हें ‘कम्प्यूटर का जाल’ भी कह दिया जाता है।

internet kya hai

Internet के जरिए सूचनाओं और Data का बड़ी मात्रा में आदान-प्रदान किया जाता है। ऐसा करने के लिए Transfer Protocol का इस्तेमाल किया जाता है। यही वजह है कि Internet विश्व का सबसे बड़ा Network भी है।

Also Read

इंटरनेट के प्रकार | Types of Internet

कुछ लोग मानते हैं कि Internet कई प्रकार के होते हैं। लेकिन यह धारणा गलत है, क्योंकि Internet का कोई प्रकार नहीं है।इंटरनेट तो स्वयं एक Computers का जाल है। ऐसे में हम कह सकते हैं कि Internet का कोई प्रकार नहीं होता। हालांकि Internet पर दिए जाने वाले Connection कई प्रकारों में विभाजित होते हैं जो कि निम्नलिखित  हैं:-

  • Dial-up Connection
  • ISDN Connection
  • Leased line connection
  • Very small aperture Terminal (VSAT)
  • Broadband connection
  • Wireless connection
  • Satellite connection
  • Mobile internet connection

इंटरनेट कैसे काम करता है? | How Does The Internet Work ?

Internet जिन Information का आदान-प्रदान करता है,वे कहीं ना कहीं Store की जाती हैं। यह सभी सूचनाएं जहां पर Store होती हैं, उन्हें Server कहा जाता है।

Also Read

दुनिया भर में मौजूद सभी Server फाइबर ऑप्टिक्ल केबल द्वारा जुड़े होते हैं, जो कि बालों से भी पतले होते हैं। Fiber Optical Cable महासागरों के अंदर फैले हुए हैं। यही वजह है कि पहले Network Connection, Cable के जरिए दिया जाता था, लेकिन इसके विकास की वजह से अब Satellite के जरिए Network सुविधा उपलब्ध करवाई जाती है।

इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर क्या है? | What is Internet Service Provider?

अक्सर लोग इंटरनेट का मालिक कौन है? (who Is The Owner Of The Internet?) जैसे सवाल पूछते हैं। कुछ लोगों का कहना है कि Airtel, Jio, Vi आदि Internet के मालिक हैं, लेकिन ऐसा नहीं है। दरअसल, ये Internet के मालिक नहीं बल्कि service Provider हैं, जो कि हमसे Internet Pack के बदले में पैसे लेते हैं। दरअसल,Internet पर किसी भी संस्था, सरकारी या एजेंसी कोई का मालिकाना हक नहीं है,बल्कि Internet तो सामूहिक मिल्कियत है।

इस तरह हम कह सकते हैं कि जो कंपनियां ग्राहकों को Internet सुविधा प्रदान करती हैं, वे Internet सर्विस Provider या ISP कहलाती हैं। Internet Service Provider को तीन स्तरों में विभाजित किया जाता है। इनमें से कुछ सर्विस Provider एक देश से दूसरे देश में Internet सर्विस पहुंचाते हैं, तो कुछ सर्विस Provider क्षेत्रीय स्तर पर Internet Connection पहुंचाते हैं और इसी आधार पर इन्हें Tier -1, Tier 2 और Tier 3 में बांटा जाता है।

इंटरनेट प्रोटोकॉल क्या है? | What is Internet Protocol in Hindi?

हम जानते हैं कि Internet पर बड़ी मात्रा में सूचनाओं का आदान-प्रदान होता है। एक Computer से दूसरे Computer, Mobile के जरिए Data का आदान प्रदान किया जाता है। लाखों-करोड़ों Data को नियंत्रित करने के लिए कुछ नियमों की आवश्यकता होती है, इन्हीं नियमों को Internet Protocol के नाम से जाना जाता है।

इस तरह से हम कह सकते हैं कि किसी भी Computer द्वारा Data के आदान प्रदान करने केलिए जिन नियमों के समूह का इस्तेमाल किया जाता है, वे Internet Protocol कहलाते हैं। Internet Protocol को Institute of Electrical and Electronics Engineers ने प्रकाशित किया था।

इंटरनेट का इतिहास | History Of Internet in Hindi

अक्सर Internet के बारे में बात करते हुए मन में यह सवाल उठता है कि आखिर इंटरनेट की खोज किसने और कब की? दरअसल, Internet का जन्म हुआ था, साल 1969 में। यही वह साल था जब चुनिंदा Computers को जोड़कर एक Network बनाया गया।

उस दौरान अमेरिकी सेना ने इसे Massachusetts Institute of Technology के साथ पार्टनरशिप में बनाया था। शुरुआती दौर में इसे Advance Research Project Agency Network (ARPANET) कहा गया। उस दौरान युद्ध का माहौल था और युद्ध के दौरान Message भेजने के लिए इसे Develop किया गया था।

1970 में Vinton Gray Cerf और Bob Kanh नामक इन दो शख्स ने Internet की शुरुआत की थी। इन्हीं दोनों को ‘Internet का जनक’ भी कहा जाता है।

कुछ समय बाद Internet के लाभों को देखते हुए, कई वैज्ञानिक, कांट्रेक्टर, कम्पनियों ने भी इसका इस्तेमाल करना शुरू कर दिया और धीरे-धीरे यह लोकप्रिय होता चला गया। वर्तमान में Internet ने इतना विकास कर लिया है कि इसके बिना किसी भी देश की प्रगति सम्भव नहीं है।

इंटरनेट के लाभ | Advantages of Internet in Hindi

समय के साथ Internet की उपयोगिता काफी बढ़ चुकी है।आज शिक्षा से लेकर व्यापार तक सब Internet के माध्यम से ही किया जा रहा है। आइए जानते हैं कि Internet की क्या विशेषताएं हैं?

  • Communication- आज दुनिया के प्रत्येक कोने में बैठे व्यक्ति से हम Internet के जरिए आसानी से जुड़ जाते हैं। Internet की मदद से हम विभिन्न Social Media Platforms जैसे कि Facebook, Twitter, WhatsAppऔर Instagram का इस्तेमाल करते हुए कई लोगों से बातचीत कर पाते हैं।
  • Information-वर्तमान समय में Internet पर बहुत सारी जानकारियां उपलब्ध हैं। हम Internet के जरिए दुनिया के किसी भी कोने की जानकारी को हासिल कर सकते हैं।
  • Entertainment-Internet मनोरंजन का सबसे बड़ा माध्यम बन चुका है।लोग Internet में Chatting कर, गाने सुनकर, movies देखकर, online Books पढ़कर आप अपना मनोरंजन कर सकते हैं।
  • Online खरीद बिक्री- Internet के जरिए किसी भी सामान को भेजना व खरीदना काफी आसान हो चुका है। यही वजह है कि Amazon, Flipkart, Meesho, Paytm mall जैसे कई Online Market places इसके जरिए अपने सामानों की खरीद-बिक्री कर रहे हैं।
  • Education– शिक्षा के क्षेत्र में Internet का उपयोग धड़ल्ले से किया जा रहा है।Offline Education हो या ऑनलाइन शिक्षा Internet के बिना दोनों से संभव नहीं है। ऑफलाइन शिक्षा के दौरान हम पाठ्य सामग्री Internet से प्राप्त करते हैं, जबकि ऑनलाइन शिक्षा तो खुद Internet पर मौजूद कईplatforms के जरिए हासिल की जाती हैं।कोरोना महामारी के बाद से ऑनलाइन शिक्षा का महत्व और भी बढ़ चुका है और यह Internet के बिना कभी संभव नहीं है।
  • सरकारी कामकाज– सिर्फ amazon ही नहीं, बल्कि सरकार भी Internet का इस्तेमाल कर रही हैं। Internet पर कई तरह के Ad Campaign चलाकर सरकार चुनावों के लिए अपना छवि निर्माण करते हैं। इसके साथ ही Internet के जरिए ही वे अपनी नई नई योजनाओं को जनता तक पहुंचाते हैं।
  • Jobs- Internet नौकरी का भी सबसे बड़ा माध्यम बन चुका है। लोग Internet पर ही website, YouTube videos बनाकर पैसा कमा रहे हैं। इसके अलावा जिन कंपनियों को Employees की जरूरत होती है, वे भी Internet के जरिए ही जॉब एडवरटाइजमेंट निकालते हैं।

तो आप जान गए होंगे कि हमारे जीवन में Internet का कितना महत्व है।

इंटरनेट की हानि | Disadvantages of Internet

  • Cyber Attacks- Internet पर आए दिन लोग साइबर हमलों के शिकार होते हैं। ऐसे में Internet को काफी सुरक्षित माध्यम नहीं माना जाता। Internet पर कई लोगों की निजी जानकारियों को बेच दिया जाता है। इसके साथ ही कई अपराधी हमारे Computer, Mobile फोन में भ्रामक लिंक के जरिए वायरस डाल देते हैं जिससे वे हमारे क्रेडिट, डेबिट कार्ड व Bank Account से संबंधित जानकारी हासिल कर हमारे पैसे चुरा सके।
  • Wastage of time- जैसे कि हमने ऊपर बताया कि Internet के जरिए लोग फिल्मी संगीत और चैटिंग करके अपना मनोरंजन करते हैं। लेकिन कई लोग Internet Addict हो जाते हैं और वे पूरा दिन अपना काम धंधा छोड़कर Internet पर लगे रहते हैं।
  • कम गुणवत्ता की शिक्षा- एक समय था जब शिक्षा के जरिए छात्रों को कई Activities भी करवाई जाती थी। साथ ही छात्र आपस में मित्र बनाकर संबंध स्थापित करना सीखते थे। लेकिन आज के समय में ऑनलाइन शिक्षा की वजह से शिक्षा का स्तर गिर चुका है क्योंकि छात्र Online Classes में ध्यान नहीं देते।
  • स्वास्थ्य पर प्रभाव- बहुत से लोग पूरा दिन Internet पर लगे रहते हैं जिस वजह से वह किसी भी तरह की शारीरिक गतिविधि नहीं करते, इससे उनकी आंखें तो कमजोर होती ही है, साथ ही उनकी गतिहीन जीवनशैली की वजह से वे कई रोगों के शिकार भी हो जाते हैं।
  • पैसों की बर्बादी– Internet हर किसी की जरूरत बन चुका है और Internet के बिना एक कदम भी नहीं चल जा सकता। यही वजह है कि Internet पैक को खरीदने के लिए लोग बहुत पैसे बर्बाद कर देते हैं।

इंटरनेट और इंट्रानेट के बीच क्या अंतर है? | What is the Difference between Internet and Intranet in Hindi?

  • Internet का स्वामित्व किसी के पास नहीं है, लेकिन Intranet एक निजी Network है जो कि किसी कंपनी,फर्म या संस्थान से संबंधित होता है।
  • Internet द्वारा असीम जानकारियों का आदान-प्रदान किया जाता है, जबकि Intranet किसी संगठन के भीतर सीमित जानकारियां प्रसारित करता है।
  • Internet तक सभी लोगों की पहुंच है, जबकि Intranet तक सीमित लोग ही पहुंच रखते हैं।
  • Internet के मुकाबले Intranet सुरक्षित है।

Leave a Comment