Lifi क्या है, और कैसे काम करता है? | What is Lifi in Hindi & How Does Lifi Works?

आप Wi-Fi के बारे में तो जानते होंगे, लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि Li-Fi क्या होता है? दरअसल, यह वाई-फाई से भी आधुनिक तकनीक है, जो Wi-Fi से भी तीव्र डाटा प्रदान करती है।

Wi-Fi, जहां Radio Waves के जरिए हमें इंटरनेट का उपयोग करने की सुविधा प्रदान करता है, वहीं Li-Fi में, डाटा संचरण के लिए Radio Waves की जगह Visible Light Communication (VLC) तकनीक का इस्तेमाल करती है।

यह एक ऐसी अत्याधुनिक तकनीक है, जिसकी की मदद से आप एक LED बल्ब के जरिए इंटरनेट का इस्तेमाल कर पाएंगे। इसकी इंटरनेट स्पीड 224 Gbps है, जो कि Wi-Fi से कई गुना ज्यादा है। इस स्पीड में आप कोई भी बङी फाइल या Movie पलक झपकते Download कर पाएंगे।

तो आइए विस्तार से जानते हैं, LI-FI के बारे में समस्त जानकारी।

लाई-फाई क्या है? | What is LiFi in Hindi?

LiFi का Full Form ‘light Fidelity’ है। यह एक तरह की Wireless Optical Networking Technology है, जिसमें Data Transmission के लिए ‘Light-Emitting Diodes‘ का प्रयोग किया जाता है। यानी कि इसमें इंटरनेट, प्रकाश आधारित होता है, और इसका इस्तेमाल सूचना प्रसारित करने के लिए किया जाता है।

Also Read

यह Wi-Fi से काफी अलग होता है, क्योंकि WiFi में सूचना प्रसारण के लिए Radio Waves का इस्तेमाल किया जाता है।वहीं LiFi LED बल्ब की मदद से डाटा प्रसारित करता है।

इसका इस्तेमाल करने के लिए solid-state Lighting (SSL) जैसे LED बल्ब का इस्तेमाल किया जाता है,जो कि Internet तक पहुंच प्रदान करता है। Li-Fi Technology के अंतर्गत प्रकाश स्रोत (Transmitter) को संशोधित करता है और एक फोटोडायोड रिसीवर द्वारा प्राप्त किया जाता है।

लाई-फाई का इतिहास | History of LiFi in Hindi

Li-Fi का आविष्कार करने का श्रेय Professor Herald Haas को जाता है, वही Li-Fi के Founder हैं। प्रोफेसर हेराल्ड हास ने साल 2011 में स्कॉटलैंड में हुए Ted Talk में Li-Fi को प्रदर्शित किया था। इस दौरान उन्होंने यह साबित किया कि Light की मदद से भी Communication किया जा सकता है। वर्तमान समय में Li-Fi Technology को विकसित करने में कई संगठन लगे हुए हैं।

What is Lifi in hindi

Herald Haas बताते हैं कि जिस तकनीक के इस्तेमाल से सूचनाओं को Light के जरिए भेजा जाता है, उसे Visible Light Communication (VLC) कहा जाता है। उन्होंने इस Project में साल 2010 से 2012 तक काफी काम किया और 2011 में उन्होंने लोगों के सामने TED Global Talk के जरिए इसका प्रदर्शन किया।

Also Read

Li-Fi को लेकर Company की भी शुरुआत की गई और Companyका नाम रखा गया, Pure VLC। यह कम्पनी Original Equipment Manufacturer (OEM) की Company थी। बाद में यह Company LED lighting पर काम करने लगी।

अक्टूबर 2011, में Company ने LiFi Consortium का गठन किया। इस Company का मकसद था, High Speed Wireless System का गठन करना और Radio Waves पर मौजूदा Limitations को दूर करने के लिए नई तकनीक का विकास करना। आगे जाकर इसी कंपनी इसका नाम बदलकर Pure LiFi कर दिया गया।

Li-Fi कैसे काम करता है? | How Does LIFI Works in Hindi?

हम यह तो जान गए कि Li-Fi क्या है, और इसका क्या इतिहास रहा है? आइए अब जानते हैं कि Li-Fi आखिर काम कैसे करता है? दरअसल, Li-Fi Visible Light Communication के जरिए चलता है। यानी कि आप LED लाइट की मदद से मोबाइल, लैपटोप, टैबलेट में इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं।

What is Lifi in Hindi

इसका इस्तेमाल तीन मुख्य Components से जुड़ा हुआ है जिनमें Lamp Driver, LED Bulb और Photo Detector शामिल है।

Lamp Driver

 यह Internet Source है, जो Internet Cable से आने वाली सभी Informationsको LEDBulb के अंदर Transfer करता है। फिर LED BulbLightके जरिए इसी सूचना को Photo Detector तक पहुंचाती हैं।

Photo Detector

यह सूचना (light information) को Binary Data में Convert करता है और यह Information Devices में Transfer कर दी जाती है। Wi-Fi की Data Transfer क्षमता 224 Gbps है। इससे पता चलता है कि इसकी Speed Wi-Fi से कितनी ज्यादा है।

लाई-फाई के क्या उपयोग हैं? | Applications of Lifi in Hindi?

लाई-फाई की मदद से आप live-videos देख सकते हैं.

2) लाई-फाई का उपयोग, आप hospitals, schools, colleges, offices आदि में किया जा सकता है.

3) एयरक्राफ्ट्स में Passengers को इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध करवाई जा सकती है.

4) Smart home automation और lighting building में Lifi का उपयोग किया जा सकता है.

5) Defence में इस टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जा सकता है.

6) रेडियो waves पानी के अंदर काम नहीं करती है, Lifi का उपयोग underwater communication के लिए भी किया जा सकता है.

Li Fi के क्या फायदे हैं ? | What are the Advantages of LIFI in Hindi?

Li-Fi तकनीक के कई फायदे हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा है इसकी दक्षता। आइए जानते हैं इसके अन्य फायदों के बारे में,

1) सुरक्षा (Security)

जैसा कि आप जानते हैं, Wi-Fi Data Transfer करने के लिए Radio Waves का इस्तेमाल करती है और यह Radio Waves दूर-दूर तक जाने की क्षमता रखते हैं। Radio Waves दीवारों को भी पार कर जाते हैं। हालांकि, Li-Fi के साथ ऐसा नहीं होता और यह एक सीमित क्षेत्र तक बनी रहती है जिससे इसे काफी Secure माना जाता है।

2) गति (Speed)

Li-Fi की Speed Wi-Fi के मुकाबले कई गुना ज्यादा है। कहा जाता है कि इसकी Speed Wi-Fi के Data Transmission Speed से 100 गुना ज्यादा है, क्योंकि यह 224 GB प्रति सेकेंड की दर से Data को Transfer करता है।

3) सुलभ (Easy to Use)

Li-Fi का इस्तेमाल करना बेहद ही आसान है। हर घर में LED Bulb पाया जाता है और इस Technology के अंतर्गत LEDबल्ब से Internetको Access किया जाता है। ऐसे में आप अपने घर और Office में Wi-Fi लगने में होने वाले अतिरिक्त खर्च से खुद को बचा सकते हैं।

4) ऊर्जा की खपत (Consumption of Power )       

Li-Fi का इस्तेमाल करने के लिए उपयोगकर्ता को ऊर्जा की खपत की चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि ज्यादातर लोगों के घरों व Office में Lightजरूर लगाई जाती है।

Li-Fi बड़ी ही तीव्र गति से Lightसे Connect हो जाता है, जिससे इसमें डाटा संचरण भी तेज गति से होता है।

दुनिया भर में 14 बिलियन Light Bulbs मौजूद हैं। ऐसे में जितने ज्यादा Light होंगे, उतने ही ज्यादा Li-Fi नेटवर्क उपलब्ध होंगे।

Li-Fi के क्या नुकसान हैं? | What are the Disadvantages of LiFi in Hindi?

Li-Fi एक बेहद ही नई तकनीक है और इस वजह से इसके बुनियादी ढांचे में कई कमियां हैं। जैसा कि आप जानते हैं कि Li-Fiअभी अपने प्रारंभिक चरण में हैं। आम जनता द्वारा Li-Fi का इस्तेमाल करने में अभी काफी लंबा समय बाकी है। आइए जानते हैं Li-Fi के नुकसान और इसकी सीमाओं के बारे में।

1) सीमित क्षेत्र (Limited Area)

हमने ऊपर बताया है कि Li-Fi दीवारों को पार नहीं करता जिस वजह से यह काफी Secure माना जाता है।हालांकि,Security के साथ इसकी सबसे बड़ी कमी यह देखने को मिलती है कि इसका इस्तेमाल सिर्फ आप एक सीमित क्षेत्र के अंदर ही कर सकते हैं।

इसका इस्तेमाल खुले स्थानों पर नहीं कर सकते। खुले स्थानों पर Wi-Fi32 मीटर तक जा सकती है। वही Li-Fi की क्षमता 10 मीटर ही है।

2) अनुकूलता (Compatibility)

Li-Fi Technology नई है इसीलिए अभी तक ऐसे Devices का निर्माण नहीं हो सका है जिसके साथ Li-Fiचल सके, क्योंकि अभी भी ज्यादातर Devices में Wi-Fi के इस्तेमाल के लिए Hardware लगें हैं।

3) Use of Light Bulb

Wi-Fi का इस्तेमाल बिना Light के नहीं किया जा सकता। इसका इस्तेमाल करने के लिए Light को ऑन करना जरूरी है।

4) Interruption of Sun Light

यह अंदेशा जताया जा रहा है कि sunlight की वजह से Li-Fi में बाधा आ सकती है। Wi-Fi के मुकाबले Li-Fi एक महंगी तकनीक है।

लाई-फाई की क्या सीमायें हैं? | What are the Limitations of Lifi in Hindi?

1) इंटरनेट को access करने के लिए light source की जरूरत होती है, बिना light के data transmission possible नहीं है.

2) यदि लाइट के रास्ते में कोई बिल्डिंग या दीवार या किसी भी प्रकार का अवरोधक है, तो यह data को transmit नहीं कर पायेगी।

3) सूरज की रौशनी या इलेक्ट्रिक लाइट, data के transmission की speed को affect कर सकती है.

4) लाई-फाई, high-speed provide तो करता है, लेकिन इसका installation cost काफी ज्यादा है.

लाईफाई और वाईफाई में क्या अंतर है? | What is the difference between LiFi and WiFi in Hindi?

1) LiFi का Full Form ‘Light Fidelity’ होता है, जबकि WiFi का Full Form ‘Wireless Fidelity’ है।

2) Li-Fi में Lightके माध्यम से Data Transmission किया जाता है, जबकि WiFi में Transmission Radio Waves के जरिए होता है।

3) Li-Fi के इस्तेमाल के लिए LED बल्ब की आवश्यकता होती है, जबकि WiFi के लिए Wireless Router की जरूरत पड़ती है।

4) liFi का इस्तेमाल करने के दौरान कोई भी Interference प्रॉब्लम नहीं आती, जबकि राउटर के साथ ऐसी समस्याएं आती है।

5) Wi-Fi में डाटा ट्रांसमिशन सुरक्षित नहीं होता क्योंकि इसका नेटवर्क Open रहता है, जबकि Li-Fi में Light दीवार के आर-पार नहीं जाती और इस वजह से इसका Transmission सुरक्षित रहता है।

6) WiFi की Data Transmission Speed 1 gbps होती है जबकि Wi Fi में यह 250 mbps है।

7) Wi-Fi में डाटा ट्रांसमिशन सुरक्षित नहीं होता क्योंकि इसका नेटवर्क Open रहता है, जबकि Li-Fi में Light दीवार के आर-पार नहीं जाती और इस वजह से इसका Transmission सुरक्षित रहता है।

8) WiFi की Data Transmission Speed 1 gbps होती है जबकि Wi Fi में यह 250 mbps है।

निष्कर्ष

हमें उम्मीद है कि इस लेख को पढ़ने के बाद आपकी Wi-Fi और Li-Fi को लेकर Confusion दूर हो गई होगी। साथ ही आपको Li-Fi क्या है? Li-Fi कैसे काम करता है? Li-Fiका इतिहास, इसके लाभ और हानियां से जुड़ी सभी जानकारियों के बारे में पता चल गया होगा।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (F.A.Q)

Question1: क्या Li-Fi तकनीक का इस्तेमाल करने से पक्षी मर जाएंगे?

Answer: Li-Fi तकनीक Lightसे चलती है। ऐसे में इससे पक्षी मरेंगे या नहीं इसके बारे में स्पष्टता कुछ नहीं कहा जा सकता। अभी तक इसे लेकर कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है।

Question2: Li-Fi का Full Form क्या है? | What is the Full Form of Lifi?

Answer: LiFi का Full Form ‘light Fidelity’ है।

Question3: Li-Fi के आविष्कारक का नाम क्या है? | Who Invented Lifi in Hindi?

Answer: Li-Fi के आविष्कारक का नाम क्या है?

Question4: क्या Li-Fi एक महंगी तकनीक है?

Answer: वर्तमान में Li-Fi तकनीक पर Research चल रहा है। कई संगठन इसे बनाने और इसके सुधारों पर काम कर रहे हैं। Li-Fi का इस्तेमाल Mobile, Tablet, Laptop जैसे उपकरणों द्वारा किया जाएगा। ऐसे में यह तकनीक काफी किफायती साबित हो सकती है।

Image Source: P. Bandela, P. Nimmagadda, S. Mutchu, “Li-Fi (Light Fidelity): The Next Generation of Wireless Network”, IJATCSE, 2014

Leave a Comment