विश्व में कितने महासागर हैं? | Vishva Mein Kitne Mahasagar Hai?

पृथ्वी के अलावा कई ग्रह ऐसे हैं, जिन पर वैज्ञानिकों द्वारा खोज की जा रही है, कि वे मानव के रहने योग्य हैं या नहीं। किसी ग्रह पर ऑक्सीजन की कमी है, तो कहीं पानी की। लेकिन शायद, आप लोगों को जानकर हैरानी होगी कि पृथ्वी ही एक ऐसी जगह है, जहां पर ऑक्सीजन और पानी दोनों ही प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसलिए, पृथ्वी को नीला ग्रह के नाम से भी जाना जाता है।

इन्हें भी पढ़ें: विश्व में कितने महाद्वीप हैं?

पृथ्वी का लगभग 71% भाग जल से घिरा हुआ है, और इसके 29% भाग पर पेयजल, मैदान, पहाड़ आदि है।

पृथ्वी पर जितना जल उपलब्ध है उसका लगभग 97% भाग महासागरों से घिरा हुआ है। 3% भाग पर ही पीने का पानी पाया जाता है।

आप सोच रहे होंगे कि 97% भाग महासागरों से घिरा होने के बावजूद हम उस जल को पी क्यों नहीं सकते? इसकी वजह यह है, क्योंकि महासागर का जल खारा यानी नमकीन होता है। लेकिन एक महासागर ऐसा है जिस का जल मीठा होता है। इसके बारे में हम आगे पढ़ेंगे।

महासागर के महत्व को समझने के लिए संयुक्त राष्ट्र (United States) द्वारा 8 जून को World Ocean Day मनाया जाता है।

Table of Contents

विश्व में कितने महासागर हैं?| Vishva Mein Kitne Mahasagar Hai?

विश्व में कुल पांच महासागर हैं,

1. प्रशांत महासागर (Pacific Ocean)

2. अंध महासागर (Atlantic Ocean)

3. हिंद महासागर (Indian Ocean)

4. दक्षिण ध्रुवीय महासागर (Antarctic Ocean)

5. उत्तर ध्रुवीय महासागर (Arctic Ocean)क्या आपको पता है कि महासागर की गहराई कितनी है? शायद आपको जानकर हैरानी होगी की महासागर धरती से 3700 मीटर गहरा है। United States counter for coastal and ocean mapping द्वारा 2010 में मापी गई नाप के अनुसार इसकी जमीन से गहराई 10994 मीटर है।

US Geological के survey के according महासागर में लगभग 1386000000 km पानी है। महासागरों में 20 लाख से भी ज्यादा प्रकार के जीव जंतु पाए जाते हैं। जिनमें से लगभग 230000 जातियों को पहचान लिया गया है।

1. प्रशांत महासागर (Pacific Ocean)

इस महासागर के नाम से ही स्पष्ट है कि या शांत रहने वाले महासागर हैं। इसका यह नाम एक पुर्तगाली researcher मैगलन द्वारा रखा गया था। यह महासागर वृत्ताकार आकार का है। जो 16,18,00,000 km तक फैला हुआ है और यह  महासागर धरती से लगभग 11000 मीटर गहरा है। इसमें अंध महासागर का दुगना पानी है। शायद आपको जानकर हैरानी होगी कि भूमध्य रेखा के निकट प्रशांत महासागर का तापमान (temperature) गर्म और दोनों के निकट तापमान हिमांग तक पहुंच जाता है।

2. अंध महासागर (Atlantic Ocean in Hindi)

यह शब्द ग्रीक (ग्रीक) भाषा का शब्द है जिसका अर्थ होता है नक्शे का समुद्र और अटलांटिक शब्द यूनानी देवता एटलस के नाम पर रखा गया है।

यह  महासागर 10,64,00000 किलोमीटर तक फैला हुआ है। इस महासागर की सीमा पूर्व में यूरोप और अफ्रीका से और पश्चिम में अमेरिका से लगती है। अंध महासागर, यूरोप और अफ्रीका महाद्वीप को अंध महाद्वीपों से अलग करता है। उत्तर और दक्षिण अंध महासागर की धाराएं विश्व के मौसम को प्रभावित (effect) करते हैं।

पानी के जहाज और हवाई जहाज द्वारा पार किए जाने वाला यह पहला महासागर था।

सन 1928 में, अमेलिया इरहार्ट द्वारा किस महासागर में पहली उड़ान भरी गाई।

ग्रीनलैंड विश्व का सबसे बड़ा द्वीप है, जो की अंध महासागर में स्थित है.

3. हिंद महासागर (Indian ocean in Hindi)

विश्व का तीसरा सबसे बड़ा महासागर हिंद महासागर है। यह पृथ्वी पर 7 करोड़ km तक फैला हुआ है। या महासागर जमीन से 8047 मीटर तक गहरा है।

यह महासागर विश्व के सभी महासागरों मे सबसे गर्म है। द्वितीय विश्वयुद्ध के समय पर इस महासागर में कई नौसैनिक लड़ाइयां लड़ी गई थी।

4. दक्षिण ध्रुवीय महासागर (Atlantic ocean in Hindi)

इस महासागर के नाम से ही स्पष्ट है कि दक्षिण ध्रुव की तरफ स्थित होने के कारण ही इसका नाम दक्षिण ध्रुवीय महासागर पड़ा। यह सबसे ठंडा और ताजे पानी का सबसे बड़ा स्रोत है। इस महासागर में, विश्व का 90% पीने योग्य पानी बर्फ के रूप में जमा हुआ है।

यह महासागर 14000000 km तक फैला हुआ है। इस महासागर का अधिकतम भाग लगभग 98% भाग, 1.9 किलोमीटर मोटी बर्फ से ढका हुआ है। इसलिए इस महासागर को बर्फ का रेगिस्तान भी कहा जाता है।

5. उत्तर ध्रुवीय महासागर (Arctic Ocean in Hindi)

International Hydrographic Organisation ने इसे महासागर की मान्यता दी। इसे आर्कटिक भूमध्य सागर भी कहा जाता है। यह महासागर 1460000 किलोमीटर तक फैला हुआ है। इस महासागर की गहराई लगभग 5450 मीटर है।

सागर और महासागर में क्या अंतर है?

  1. महासागर शब्द के नाम से ही स्पष्ट है कि यह आकार में सागर या समुद्र से बड़े होते हैं।
  2. सागर तीनों ओर से स्थल यानी जमीन/धरती से गिरे हुए होते हैं। सागर के मुकाबले महासागर अधिक गहरे होते हैं। नदिया झड़ने और झीलों का पानी सागर में आकर मिलता है और सागर का पानी महासागरों में।
  3. सागर विश्व में बहुत प्रकार के होते हैं लेकिन महासागर केवल 5 ही है। कुछ सागरों के नाम इस प्रकार हैं

ड्रियाटिक सागर

अलास्का की खाड़ी

एशियन सागर

गिनी की खाड़ी

अंडमान सागर

मैक्सिको की खाड़ी

अरब सागर

स्वेज की खाड़ी

अरल सागर

थाईलैंड की खाड़ी

बाल्टिक सागर

टोंकिन की खाड़ी

बेरेंटस सागर

जावा सागर

बंगाल की खाड़ी

कारा सागर

बेरिंग सागर

भूमध्य सागर

काला सागर

उत्तरी सागर

लाल सागर

जापान सागर

पीला सागर

पूर्वी चीन सागर आदि

Leave a Comment