HomeShikshaWhat is Network Marketing in Hindi and How Does it Work?

What is Network Marketing in Hindi and How Does it Work?

जब से देश में कोरोनाकाल शुरू हुआ,  तब से ना जाने कितने लोगो की जानों के साथ नौकरियां  भी गयी हैं और जा रही हैं 🙁 . मोदी जी ने भारत देश को आत्मनिर्भर बनाने की एक नई मुहीम शुरू की है.

आत्मनिर्भर हम तभी बन सकते हैं, जब हम खुद   manufacturing करते हों।

लेकिन, यह उन लोगो के लिए कठिन है, जिनके पास manufacturing का idea ही नहीं है, और अगर idea है, तो पैसे नहीं हैं. ऐसे में वे क्या करें की अपना business शुरू कर पायें।

अगर, आपके साथ भी ऐसा है, तो Network Marketing आपके लिए एक बढ़िया business-model है. यह एक ऐसी business-opportunity, जिसमें आप कम investment करके और घर से ही काम (Work From Home) करके पैसे कमा सकते हैं.

घर बैठे पैसे कैसे कमा सकते हैं, उस से पहले जानना जरूरी है की नेटवर्क मार्केटिंग क्या है, कितने प्रकार की होती है और कैसे काम करती है.

Table of Contents

नेटवर्क मार्केटिंग क्या है? | What is Network Marketing in Hindi?

क्या, कभी आपके साथ ऐसा हुआ है की आपने कुछ सामान खरीदा हो और उस वस्तु या सामान को अपने दोस्तों को recommend किया हो और फिर आपके दोस्त ने भी वह सामान खरीदा हो.

यह जो आपने किया, 🙂 मेरा मतलब है, recommend की फलाना प्रोडक्ट अच्छा है. इसको बोलते हैं, word of mouth marketing.

क्या, यह बताने पर आपको किसी ने रुपए दिए. लेकिन, आपने उस कंपनी के फलाने Product की तारीफ की और आपके दोस्त ने खरीद लिया। आपने तो कंपनी का Free में Marketing कर दिया।

लेकिन, क्या हो, जब आप यही काम करके कुछ रुपए कमा सकते हो, वो भी घर बैठ कर काम कर के या अपनी job के साथ part-time करके।

Network Marketing को Direct-Selling के नाम से भी जाना जाता है.

जब आप किसी भी product को अपने Network यानी दोस्तों और रिश्तेदारों को recommend करते हैं, और जब वे उस Product को खरीदते हैं. तब आपको कुछ commission मिलता है.

इसी प्रकार, जब आपके दोस्त या रिश्तेदार आगे किसी को यह product recommend करते हैं, तब आपके friends और relatives को तो commission मिलेगा ही. साथ ही आपको भी commission मिलेगा।

अब हमारे क्रिकेटर विराट कोहली जी को ही ले लीजिये। उनका Passion और Profession Cricket है. लेकिन, वह Part-Time में  advertisement  करके करोड़ो और अरबों रुपए कमा रहे हैं. आखिर, क्या कर रहे हैं? वह कर रहे हैं, Product को recommend।

Example के तौर पर, विराट कोहली, Vivo Smart Phone/Puma जैसी बहुत सारी कंपनियों के ब्रांड एम्बेस्डर हैं, और इनसे वे अपने Main Profession से ज्यादा पैसे कमा रहे हैं.

नेटवर्क मार्केटिंग का भविष्य | Scope of Network Marketing in India

यह एक ऐसी industry है, जो अब तक 2.5 करोड़ लोगों को रोजगार (employment) दे चुकी है. आने वाले समय में, भारत देश में यह संख्या 2 गुना बढ़ जाएगी।

KPMG की रिपोर्ट के अनुसार, आज नेटवर्क मार्केटिंग industry 72 बिलियन की है, और साल 2025 तक यह industry 645 बिलियन की हो जाएगी।

नेटवर्क मार्केटिंग का इतिहास | History of Network Marketing in Hindi

नेटवर्क मार्केटिंग की शुरुआत, साल 1930, अमेरिका में, California Vitamin Company और California Perfume Company द्वारा की गयी थी. आज ये कम्पनियां Nutrilite और Avon Products के नाम से जानी जाती हैं.

भारत देश में नेटवर्क मार्केटिंग या direct-selling business की शुरुआत साल 1997 में, यूरेका-फोर्ब्स और Amway द्वारा की गई थी.

नेटवर्क मार्केटिंग कितने प्रकार की होती है?/Types of Network Marketing in Hindi

Network Marketing को दो भागों में विभाजित किया गया है,

(1) Single-Level Network Marketing (SLM)

SLM में,  distributor, सीधे company से product खरीदता है और customer को बेचता है. इसमें distributor किसी अन्य distributor को sponsor नहीं करता है.

What is Network Marketing

जब कभी भी आप किसी व्यक्ति को कोई product refer करते हो, और वह व्यक्ति जब उस product को आपसे या आपके referral code से खरीदता है. और बदले में आपको कुछ कमीशन मिलता है. तो वह Single-Level Marketing कहलाती है. Affiliate Marketing, Single Level Network Marketing का ही एक हिस्सा है.

(2 ) Multi-Level Network Marketing (MLM)

MLM में, distributor अपने downline यानी नीचे एक अन्य distributor को recruit करता है. वह डिस्ट्रीब्यूटर एक customer भी होता है.

What is Network MArketing

जब वह  व्यक्ति (Downline/Upline) किसी product को recommend करता है, तो उसे और product खरीदने वाले दोनों को ही कमीशन मिलता है.

नेटवर्क मार्केटिंग, Traditional Marketing से अलग कैसे है?

अगर, हम यह जानते हैं की traditional marketing क्या है? तब, हम यह आसानी से समझ सकते हैं की Network Marketing और traditional marketing में भिन्नता (difference) कैसे है? आइये, समझते हैं,

What is Network Marketing in hindi

मान लीजिये,  Manufacturer द्वारा कोई product 20 रुपए में बनकर तैयार हुआ. अब वो product consumer यानी उपभोक्ता तक आने से पहले, National Agent, Whole Saler, Distributor और Retailer से होता हुआ, हमारे पास यानी Consumer के पास आता है. जैसा की आप चित्र में देख रहे हैं.

अब कोई आपको मुफ्त में सामान तो देगा नहीं। इनके बीच में ये सब लेते हैं अपना profit. कुछ profit national agent लेगा, कुछ whole saler, कुछ distributor और कुछ retailer. यह सारा profit उस product में जुड़ता जाता है.

आप तक आते-आते उस product की कीमत बढ़ जाती है. यानी आपको 20 रुपए में बना कोई product, 100 रुपए का पड़ता है.

बात सिर्फ यही खत्म नहीं होती। आखिर, आपको इस प्रोडक्ट में interest आया क्यों? हो सकता है वो advertisement आपने TV पर देखा हो या कहीं किसी billboards पर या कोई आपका favorite hero या favorite heroine उस product का advertisement कर रही हो.

आपको क्या लगता है की वो hero या heroine फ्री में advertisement shoot कर रहे होंगे।

तो मेरा जवाब है न. मुझे लगता है 😛 आप भी यही सोच रहे होंगे।

अब वे हीरो या हीरोइन, उस ad को shoot करने की जो कीमत ले रहे हैं, वह कहाँ से आएगी।

उनको दी जाने वाली रकम भी हम ही से ली जाती है. अब बताइये, इसमें किसको फायदा हुआ. बेशक, आपको तो नहीं हुआ.

लेकिन, नेटवर्क मार्केटिंग में ऐसा कुछ नहीं होता है. इसमें हम ही ब्रांड एम्बेस्डर भी हैं, हम ही distributor भी और हम ही consumer भी हैं.

What is Network Marketing in hindi

अब नेटवर्क मार्केटिंग में होता क्या है की manufacturer से product सीधे आपके पास आता है. बीच में कोई भी रिटेलर चेन न होने के कारण, वही सामान आपको कम rate पर मिलता है.

Traditional marketing में जो पैसे Branding और promotion में खर्च किये जाते हैं. वह पैसे  customer  को Commission के रूप में दिया जाता है.

इस प्रकार से नेटवर्क मार्केटिंग में customer के लिए win-win situation होती है.

अब नेटवर्क मार्केटिंग में क्या होता है की आप और मैं ही Consumer भी हैं, और आप और मैं ही डिस्ट्रीब्यूटर भी हैं. कैसे, समझते हैं,

मान लीजिये मुझे कोई Product चाहिए,  तो अब मैं किसी retailer से लेने के बजाय, वह प्रोडक्ट direct-selling कंपनी से लेते हैं. जो प्रोडक्ट traditional मार्केटिंग के द्वारा 100 रुपए का मिल रहा था. अब वह product हमें 60-70 रुपए में मिलेगा।

अब, अगर मैं यही Product किसी और company का लेती हूँ, तो मुझे कोई फायदा भी नहीं होता और मुझे कीमत भी ज्यादा देनी पड़ती है.

लेकिन, अगर यही Product आपको अच्छा लगता है, जब आप किसी अन्य को recommend करते हैं, तो उसके लिए आपको  कमीशन भी मिलता है.

मान लीजिये की आप कोई दुकान खोलते हैं, तो उस दुकान को खरीदने में आपको रुपए लगाने पड़ते हैं. फिर, उस दुकान में सामान भरने में रुपए लगाने पड़ते हैं. यानी इसमें आपको एक अच्छा-खासा investment करना पड़ता है.

लेकिन, वहीं नेटवर्क मार्केटिंग में न आपको दुकान खरीदनी होती है, और न ही आपको सामान रखने की जरूरत है. जरूरत होती है तो सिर्फ उपभोक्ता यानी Consumer की.

Network Marketing आपको और हमको एक Business opportunity देता है की हम लोगो को रोजगार दे पाएं।

नेटवर्क मार्केटिंग क्यों करें? | Why Network Marketing?

(1) यह एक ऐसी business opportunity है, जिसमें आप कम पैसे में अधिक कमा सकते हैं. जबकि, दुसरे businesses में आपको काफी पैसे लगाने पड़ते हैं.

(2) आप इस business को Part-time या job के साथ भी आसानी से कर सकते हैं.

(3) इस business को करने के लिए आपको proper ट्रेनिंग और support दिया जाता है. यानी जैसा-जैसा आपके Senior/upline कहते जाएँ, आप करते जायें।

(4) यह एक ऐसा बिज़नेस है, जिसमे आप खुद की और दूसरों की मदद भी कर सकते हैं.

(5) एक ऐसी business opportunity है, जिसमे किसी भी प्रकार की शिक्षा, उम्र की कोई boundation नहीं है. यह बिज़नेस आप कभी भी और किसी भी उम्र में कर सकते हैं. भले ही आप अनपढ़ क्यों न हो.

(6) यह industry आपको Passive Income और Time Freedom देती है.

नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी को कैसे चुने? | How to Choose a Network Marketing Company?

किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी को चुनने से पहले जरूरी है की आप यह 4 बातों का ध्यान रखें।

(1) विश्वनीयता | Credibility

किसी भी कंपनी को choose करने से पहले, यह जानने की कोशिश करें की वो कंपनी कितने सालों से network marketing industry में काम कर रही है. इस इंडस्ट्री में कंपनी कम से कम 5 साल से काम कर रही हो.

उस कंपनी के certificates और Directors के बारे में जानने की कोशिश करें। यह जानने की कोशिश करें की कंपनी के Directors का vision कहीं सिर्फ पैसे कमाना तो नहीं है. अगर ऐसा है तो हो सकता है की भविष्य में आपको नुक्सान उठाना पड़े.

जानने की कोशिश करें की company, Consumer Affair की Guidelines को Follow करती है या नहीं।

(2) वास्तविकता /Reality of Product

किसी भी कंपनी को ज्वाइन से करने से पहले जानना जरूरी है, की क्या वह कंपनी आपको पैसे के बदले में product देती है या नहीं।  अगर दे रही है तो उन products की quality कैसी है. कहीं ऐसा तो नहीं है की वह ज्यादा पैसे में खराब quality का सामान दे रही हो.

(3) Income Plan

अगर किसी भी Company  का income plan ऐसा है, जिसमें वह पैसे के बदले में पैसे दे रही है. तब, यह एक forgery company भी हो सकती है. ऐसी कंपनियों से दूर रहे और लालच में न पढ़ें।

हमेशा, वह कंपनी चुनें, जो products में deal करती है, न की पैसे के बदले पैसे देती है.

(4) Professional Training and System

हमेशा यह जरूर जानने की कोशिश करें की कंपनी सामान बेचने के लिए आपको ट्रेनिंग देगी या नहीं। अगर, company आपको ट्रेनिंग करवाती है, आपको नये Skills सिखाती है, तो ऐसी company के साथ काम जरूर करें।

नेटवर्क मार्केटिंग को कैसे join कर सकते हैं? | How to Join Network Marketing in India?

Network Marketing  join करना कोई कठिन काम नहीं हैं. लेकिन, इस industry में जरूरी है एक अच्छे Leader का मिलना और उनके साथ काम करना। क्योंकि, इस industry में सफल होने के लिए एक अच्छे लीडर का होना बहुत आवश्यक है.

यदि आप भी नेटवर्क मार्केटिंग में अपना Career बनाना चाहते हैं और एक सफल Leader सोनू शर्मा के साथ काम करना चाहते हैं, तो आप इस Form को fill करके Team Sonu Sharma का हिस्सा बन सकते हैं.

हम सभी जानते हैं की सोनू शर्मा एक बहुत ही उम्दा Motivational Speaker, Leader और Network Markerter हैं. उनकी बारे में अधिक जानने के लिए इस Article को पढ़ें

Gauri
Gaurihttps://hindipradesh.com/
हैलो, मेरा नाम ग्लोरी है. मै इंजीनियरिंग में अपनी पढ़ाई पूरी कर चुकी हूँ. मुझे रिसर्च का और लिखने का शौक है. मुझे प्रकर्ति के साथ रहना अच्छा लगता है.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post